• Email Us : gfcoff@gmail.com
  • Call Us : 05842-222383
Welcome to G.F College Website       Ragging is a criminal Offense       Smoking is prohibited in College Campus       Green & Clean College Campus

Event Details


ALL YOU WANT TO KNOW Event Details

Event Details


  • गांधी फ़ैज़-ए-आम काॅलेज में आज वन्य जीव संरक्षण सप्ताह के अंतर्गत जंतु विज्ञान विभाग द्वारा ‘मैन एंड एनिमल कान्फ्लिक्ट’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता एवं वन्य जीव संरक्षण पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

    दिनांक: 5 अक्तूबर 2019
    गांधी फ़ैज़-ए-आम काॅलेज में आज वन्य जीव संरक्षण सप्ताह के अंतर्गत जंतु विज्ञान विभाग द्वारा ‘मैन एंड एनिमल कान्फ्लिक्ट’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता एवं वन्य जीव संरक्षण पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया।
    भाषण प्रतियोगिता में प्रथम स्थान बी.एससी.-तृतीय वर्ष की ज़ेबा परवीन को मिला जबकि दूसरे स्थान बी.एससी.-प्रथम की शादान शकील और बी.एससी.-प्रथम की ही विभा शर्मा को तीसरा स्थान हासिल हुआ। बी.एससी.-प्रथम की नूरजहां और बी.बी.ए-प्रथम सेमेस्टर की शांतना मिश्रा को सांत्वना परस्कार प्रादन किए गए। विजयी प्रतियोभागियों को कानपुर विश्वविद्यालय से पधारे मुख्य अतिथि प्रोफेसर वी.पी. सिंह और प्राचार्य प्रोफेसर जमील अहमद ने पुरस्कार वितरित किए। प्रतियोगिता के निर्णायक डाॅ0 अरशद अली और डाॅ0 राजेश कुमार रहे।
    इस दौरान आयोजित संगोष्ठी में बोलते हुए मुख्य अतिथि प्रोफेसर वी.पी. सिंह ने कहा कि वर्तमान समय में मानवीय गतिविधियों के कारण जीव-जंतुओं की विभिन्न प्रजातियाँ हज़ार गुना तेज़ी से विलुप्त हो रही है। जनसंख्या विस्फोट के कारण जंगल समाप्त हो रहे हैं। तेजी से बढ़ता प्रदूषण वन्य जीवों की विलुप्ति का कारण है। फसलों की सुरक्षा हेतु प्रयोग किए जा रहे पेस्टीसाइड जीव-जंतुओं के विनाश का कारण सिद्ध हो रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि जीव जंतुओं के संरक्षण के लिए हमें जागरूक होना होगा। जियो और दूसरों को जीने दो की भावना ही वन्य जीवों के संरक्षण में सहायक हो सकती है।
    प्राचार्य प्रोफेसर जमील अहमद ने कहा कि वन्य जीवों के विनाश का मुख्य कारण मानव और उसकी गतिविधियाँ हैं। आज इंसान की इच्छाएं और लोभ इस क़दर बढ़ चुका है कि ख़ुद मानव भी उसकी भयावहता का शिकार हो रहा है। जंगलों के खत्म होते जाने से वन्य जीवों के रहने के स्थान सिकुड़ते जा रहे हैं। प्रकृति का संतुलन बिगड़ने का नुकसान अंततः मनुष्य को ही उठाना पड़ेगा। जन जागरूकता और वन्य जीवों के प्रति सहअस्तित्व की चेतना ही प्रकृति का संतुलन स्थपित कर सकती है।
    संगोष्ठी का संचालन डाॅ0 मंसूर अहमद ने किया। धन्यवाद ज्ञापन डाॅ0 मोहम्मद शोएब ने किया।
    इस अवसर पर डाॅ0 नईमुद्दीन सिद्दीक़ी, डाॅ0 शबाना साजिद, डाॅ0 जमील अहमद ख़ान, डाॅ0 स्वप्निल यादव, डाॅ0 शाइस्ता, मोहम्मद आकिब, दानियाल ख़ान और मोहम्मद रिज़वान सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।


    प्राचार्य
    (प्रोफेसर जमील अहमद)
    गांधी फ़ैज़-ए-आम काॅलेज, शाहजहांपुर
     
     
     
     

    Posted by GF College / Posted on Oct 05, 2019

120

Awesome Professors

33

Department

15

Courses

10000+

Students

About

Gandhi Faiz-E-Aam (Post Graduate) College, Shahjahanpur is a Multi-streamed College of India. This College was established in 1947 by Khan Bahadur Fazl-Ur-Rahman Khan.

  • 05842-222383
  • 05842-281098
  • gfcoff@gmail.com

Popular Courses

Follow Us

Latest News

  • आज गांधी फ़ैज़-ए-आम काॅलेज में आज राष्ट्रीय सेवा योजना उत्तर प्रदेश एवं युवा कल्याण तथा खेल मंत्रालय के संयुक्त तत्वावधान में फिट इंडिया कार्यक्रम के अंतर्गत ‘साइकिल दिवस मनाया गया।

    Read More

    Jan 18, 2020
  • Paper Submission Deadline: 14 January, 2020

    Read More

    Jan 06, 2020

All Rights Reserved © GF College | Designed By Spn Web Developer